Covid-19 की गलत रिपोर्ट बनाने पर कांट्रेक्टर सहित चार मजदूर गिरफ्तार। जानिए इसके पीछे क्या थी मजबूरी?

गामदेवी पुलिस ने चार मजदूरों की Covid -19 गलत रिपोर्टों बनाने के लिए एक ठेकेदार को गिरफ्तार किया है गलत रिपोर्ट के द्वारा भुलाभाई देसाई रोड पर एक फ्लैट के मरमत कार्य के लिए सोसाइटी परिसर में जाने की अनुमति मिले।

पुलिस के अनुसार, बी डी रोड स्थित साजित को-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी ने बाहरी लोगों के लिए Negative COVID-19 रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है,

नियम के अनुसार, ठेकेदार कांबले ने मंगलवार को अपने चार मजदूरों की नकारात्मक COVID रिपोर्ट सोसाइटी सेक्रेटरी हिरेन ठक्कर को सौंपी। हालांकि, सभी रूपों पर वर्चुअल आईडी और समय समान होने पर ठक्कर को संदेह हुआ और उन्होंने सोसायटी अध्यक्ष से इसकी बात की।

जब अध्यक्ष ने सत्यापन के लिए प्रयोगशाला से संपर्क किया तो प्रयोगशाला ने बताया कि रिपोर्ट उनके द्वारा बनाई नहीं थी। VID की जाँच करने पर उन्होंने कहा कि VID एक रूपेश रावल का है और रिपोर्ट पिछले साल की है। रहस्योद्घाटन के बाद, प्रबंधक ने पुलिस से संपर्क किया।

गामादेवी पुलिस ने तब लोक सेवक के आदेश (188) की अवहेलना करने के लिए भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा के तहत अपराध दर्ज किया, जिसमें लापरवाही से जीवन के लिए खतरनाक संक्रमण फैलने की संभावना थी (269) साथ ही धोखाधड़ी और जालसाजी की धाराओं को लगाया गया।

गामदेवी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक आर राजभर ने कहा, हमने एक अपराध दर्ज किया है और एक ऐसे व्यक्ति की तलाश की है जिसने कथित रूप से रिपोर्ट बनाने में ठेकेदार की मदद की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.