नालासोपारा हॉस्पिटल का सरकारी योजना के तहत इलाज देने से इनकार।

  • by

Nallasopara: covid 19 के महामारी के खतरे को देखते महाराष्ट्र राज्य ने केशरी,पिला सहित सफेद राशनकार्ड धारकों को महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना के अंतर्गत शामिल किया है। पालघर के नालासोपारा में इस स्कीम की सच्चाई नजर आ गई,

दिनांक 20 मई को एक महिला मरीज किडनी से संबंधित रोग से ग्रस्त थी, किडनी डॉक्टर की सलाह से उन्हें जल्द से जल्द डायलसिस की आवश्यकत थी।लेकिन गरीब परिवार खर्चे के सोच में राज्य सरकार द्वारा लागू स्कीम के बारे में पता लगाने लगा।

इंटरनेट के माध्यम से पालघर डिस्ट्रिक्ट महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना कॉर्डिनेटर Dr.Deepa jha का कांटेक्ट न. मिलने पर उनसे बात करने पर उन्होंने अस्वाशन दिया कि आपको नालासोपारा ईस्ट Vijayalaxmi Hospital में स्कीम का लाभ मिल जायेगा।

परिवार थोड़ी देर न करते हुए, अम्बुलन्स लेकर नालासोपारा ईस्ट स्थित Vijayalaxmi Hospital पहुँचा गया। हॉस्पिटल पहुँचने के बाद जब परिवार ने स्कीम के अंतर्गत इलाज करने को कंहा तो, उन्होंने साफ कह दिया किडनी संबंधित पहेली ट्रीटमेंट स्कीम के तहत लागू नही होगा। यदि आपको ट्रीटमेंट करवाना है तो प्राइवेट एडमिशन करवा के इलाज कराना पड़ेगा, जब उन्होंने lumsum प्रतिदिन का खर्च मेडिसिन और रिपोर्ट छोड़कर करीब 35000 से 40000 हजार बताया और कंहा बड़ भी सकता है।

यह पूरी घटना सरकार की स्कॉमो की सच्चाई बया करती है। जब कोई इसकी शिकायत प्रशासन से करता है। इसपर किसी तरह की कार्यवाही नही की जाती, इसलिए भृम में मत रहो अपना ध्यान खुद रखो, यह जान जावो महात्मा फुले जन आरोग्य स्कीम सिर्फ कागजी है। इसका वास्तविकता से कोई वास्ता नही यह कहना गलत नही होगा।